उड़ान परिवहन का एक प्रमुख साधन बन गया है। सरकार देश के हर बड़े शहर में एयरपोर्ट विकसित करने की योजना बना रही है।

हवाई यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। अगर आप भी रेगुलर फ्लाइट में सफर करते हैं तो इससे जुड़े कुछ जरूरी नियमों को जानना बेहद जरूरी है।

कई बार फ्लाइट कैंसिल हो जाती है। ऐसे में यात्रियों की सुविधा के लिए एविएशन रेगुलेटर (DGCA) ने फ्लाइट में देरी से जुड़े कुछ अहम नियम बनाए हैं. तो आइए जानते हैं इन नियमों के बारे में

डीजीसीए के नियम के मुताबिक अगर आपकी फ्लाइट 24 घंटे से कम लेट है तो ऐसे में एयरलाइन की ओर से यात्री को नाश्ता और खाना परोसा जाएगा।

अगर फ्लाइट 24 घंटे से ज्यादा लेट होती है तो एयरलाइंस को यात्रियों को होटल की सुविधा देनी होगी। इसके साथ ही एयरपोर्ट से होटल तक जाने की सुविधा भी देनी होगी। होटल चुनने का अधिकार एयरलाइंस के पास है।

यदि किसी आपात स्थिति के कारण उड़ान में देरी होती है, तो यात्रियों को ऊपर वर्णित अधिकार नहीं मिलेंगे।

अगर आपने फ्लाइट के लिए समय पर चेक-इन किया है और उसके बाद फ्लाइट लेट हो रही है तो फ्लाइट के लेट होने की सारी सुविधाएं आपको मिल जाएंगी।

इसके साथ ही जब भी यात्री फ्लाइट बुक करें तो अपना सही मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी डालें। इससे फ्लाइट लेट होने पर आपको एयरलाइंस की तरफ से सही जानकारी मिल जाएगी।